DAHI SHAKKAR LYRICS SHRUTI TAWADE

DAHI SHAKKAR LYRICS SHRUTI TAWADE

DAHI SHAKKAR LYRICS SHRUTI TAWADE

हम पास होके तूते क्यों? ये तो ना सोचा था।
हर बात पे यू रुत्थे क्यू? ये तो ना सोचा था।

अब तुझको तेरे मुझ को मेरे अपने घर है जाना।
तो क्यों ना है कर कह दे अलविदा मेरी जान!
बेकार के झगड़े-वागदे करने से बेहतर ही है ना,
हम क्यों ना है कर कह दे अलविदा?

लडने की क्या है ज़रुरत?
तू चाहे साथ भी रह मत।
चाहे बिछड़े हम दोनो,
पर कड़वी बातें केह मत।
सब बादमे खलता है ना?
दिमाग में चलता है ना?
अब से दिन ठीक से गुजरे,
इतना तो बनता है ना?

कुछ तो बदलेगा, है ना?
फर्क पड़ेगा, है ना?
जाने से पहले हो जाए जरा सा
दही शक्कर।
दही शक्कर।
नाता अब तोड़ के जाना
थोड़ा आसान है ना?
जाने से पहले हो जाए जरा सा
दही शक्कर।
दही शक्कर।

आ, हम सौदा करे इक दफा… दफा…
बिछडेंगे मगर ना होंगे खफा… खफा…
कुछ वादे, मेरी मजबुरिया,
चाहे जितने भी हों हम जुदा,
कुछ याद हमारी जरुरी रहेंगे सदा, सदा…

घर जाकार अब न रोना।
बिस्तर से दूर न सोना।
सपनो में आने देना।
इतने भी दूर ना होना।
नाता हो खाक बराबर।
चाहे न साथ रहा कर।
केह देना झूथ सारासर।
बस मीठी बात करा कर।

कुछ तो बदलेगा, है ना?
फर्क पड़ेगा, है ना?
जाने से पहले हो जाए जरा सा
दही शक्कर।
दही शक्कर।
नाता अब तोड़ के जाना
थोड़ा आसान है ना?
जाने से पहले हो जाए जरा सा
दही शक्कर।
दही शक्कर।

Just Cause We Wanna Break Apart, Why Would We Wanna Do The Things That Break A Heart?
Why Would We Wanna Say A Word That Hurts?
Just Cause We Wanna Break Apart, Why Would We Wanna Do The Things That Break A Heart?
Why Would We Wanna Say A Word That Hurts?

गीत अंत

DAHI SHAKKAR OFFICIAL MUSIC VIDEO BY SHRUTI TAWADE

Leave a Comment